अगला मल्टीबागर: हिमालय इंटरनेशनल रिलायंस रिटेल द्वारा अपनाया गया

2020 के लिए सुपर Multibagger शेयर। अपने रास्ते पर भविष्य Multibagger। (जुलाई 2019).

Anonim

सीएमपी: 23.0 9 रुपये

लक्ष्य: 15 महीने में 100 रुपये

बीएसई: 526899

व्यापार प्रोफ़ाइल
हिमालय इंटरनेशनल ( एचआईएल) को 1 99 2 में शामिल किया गया था। कंपनी को मनमोहन मलिक और संजीव काकर द्वारा पदोन्नत किया जाता है। यह मशरूम और सब्जियों में लगी हुई है। कंपनी के पौधे पोंटा साहिब (सिरमौर, हिमाचल प्रदेश) में स्थित हैं।

कंपनी मैसूर, भारत में स्थित सीएफटीआरआई (सेंट्रल फूड टेक्नोलॉजिकल एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट) के साथ घनिष्ठ सहयोग में काम करती है।

एचआईएल मशरूम उत्पादों, आलू उत्पादों, डेयरी उत्पादों और इससे संबंधित विभिन्न उत्पादों सहित विभिन्न प्रकार के उत्पादों को प्रदान करता है। कंपनी अपने उत्पादों को केवल भारतीय बाजार में और अमेरिकी बाजार में बेचती है।

यह राष्ट्रीय आलू प्रमोशन बोर्ड के सदस्य के रूप में संयुक्त राज्य अमेरिका के कृषि विभाग द्वारा प्रमाणित भी है।

कंपनी की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी अर्थात वैश्विक रिलायंस है, जो कंपनी के सभी शिपमेंट कार्यों का ख्याल रखती है। इसने अमेरिकी कृषि विभाग से खाद्य उत्पादों का आयात करना शुरू किया और इन उत्पादों को भारत में बाजार में लाएगा।

वित्तीय

हिमालय इंटरनेशनल ने सितंबर 2007 में समाप्त तिमाही के लिए सितंबर 2007 में समाप्त तिमाही के लिए शुद्ध लाभ में 91.27% की वृद्धि दर्ज की जो सितंबर 2006 में समाप्त तिमाही के लिए 13.28 मिलियन रुपये के मुनाफे से 25.40 मिलियन रुपये हो गई।

सितंबर 2007 को समाप्त तिमाही में शुद्ध बिक्री 31.88% बढ़कर 107.68 मिलियन हो गई, जो सितंबर 2006 को समाप्त तिमाही के लिए 81.65 मिलियन थी।

हाल ही हुए परिवर्तनें
13-NOV-07
हिमालय इंटरनेशनल ने घरेलू बाजार में अपने उत्पादों को बेचने के लिए देश के सबसे बड़े खुदरा खिलाड़ी रिलायंस रिटेल के साथ एक समझौते में प्रवेश किया।

09-NOV-07
हिमालय इंटरनेशनल ने अपने मशरूम परिचालनों के लिए जैविक परामर्श और क्षमता बढ़ाने के लिए नई योजनाओं के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका, पेंसिल्वेनिया, संयुक्त राज्य अमेरिका के डॉ बेयर के साथ अनुबंध में प्रवेश किया। अनुबंध के तहत, कंपनी को नवीनतम तकनीक प्रदान की जाएगी जो कम से कम 50% तक मौजूदा स्तर से मशरूम पैदावार को बढ़ावा देगा। बढ़ी हुई पैदावार के आधार पर पुरस्कार के अलावा डॉ बेयर को निश्चित शुल्क का भुगतान किया जाएगा। डॉ बेयर मशरूम सुविधाओं की अपनी विस्तार योजनाओं के लिए कंपनी की भी सहायता करेंगे।

भविष्य की योजनाएं
कंपनी ने भारत सरकार की ईपीसीजी योजना के तहत 100% ईओयू को डीटीए में बदलने का फैसला किया। इसने वर्ष 2010 तक 1, 000 मिलियन रुपये का कारोबार लक्षित किया है।

भारत में विदेशी खाद्य उत्पादों की बढ़ती मांगों को पूरा करने के लिए, कंपनी ने आयात करने की मांग की।

$ 1 $ 2